Job v/s Business – जॉब करूँ या बिज़नस ?

Spread the love

Job v/s Business – जॉब करूँ या बिज़नस ?

अक्सर जब हम अपने करियर के बारे में सोचना चालू करते है तो पहला सवाल जो दिमाग में आता है वो यह की – मै जॉब करूँ या बिज़नस ? हम अक्सर यह तय ही नही कर पाते की हमें क्या करना चाहिए और फिर हम वही करने लगते है जो बाकि के लोग हमें राय देते है , उस वक़्त हम अपने आप की आवाज को नही सुन पाते है और गलत करियर का चुनाव कर बैठते है और पूरी जिंदगी उस गलत फैसले को सुधारने में लगा देते है |

 

तो चलिए आज हम आपकी इस समस्या को हल करने की कोशिस करते है |

वैसे ये कहना तो मुस्किल होगा की जॉब अच्छी है या बिज़नस, इसलिए हम दोनों को जानने की कोशिस करेंगे और आप फैसला करियेगा कि आपके लिए क्या सही है – जॉब या बिज़नस ?

Difference between job and Business :

चलिए हम पहले जॉब की बात करते है क्योकि 100 में से 90 लोगो के दिमाग में जॉब करने की ही बात पहले आती है | तो चलिए पहले जॉब के बेनिफिट्स को देखते है –

  1. Secure Income : जॉब में Income ज्यादा सुरक्षित होती है बिज़नस की अपेक्षा | महिना शुरू नही हुआ की आपको आपकी पेमेंट हाथ में मिल जाती है | लेकिन बिज़नस में ऐसा बिलकुल नही होता है | आप सोच के बैठे रहते है की इस तारीख को आपको पैसे मिलेंगे और अंत में पता चलता है कि उसकी तारीख बढ़ गयी कुछ कारणों से |
  2. Fixed Payment : जॉब में आपकी income fix होती है , न ऊपर और न नीचे | ऐसा नही है की आपकी जरुरत के हिसाब से आपकी पेमेंट बढती रहेगी | पर बिज़नस में ऐसा नही होता , उसमे आपका पेमेंट कभी ऊपर या कभी निचे जा सकता है | कभी इतने पैसे होंगे की खर्च चलने में भी समस्या होगी और कंही आपकी पेमेंट इतनी हो जाएगी की आप हर वो चीज हासिल कर सकते है जो आप चाहते है |
  3. Fixed Working Hour : नौकरी में आपके काम करने का एक fixed Time होता है | जैसे 9 से 5 का | जैसे ही 5 बजे आप घर जा सकते है , इससे कोई मतलब नही की काम पूरा हुआ है या नही | पर बिज़नस में टाइम फिक्स नही होता है | आप कब तक काम करेंगे इसका कोई हिसाब नही होता | लोगो को लगता है बिज़नस में कम टाइम देना होता है तो ये गलत सोच है | जब तक आपका बिज़नस सेट नही होता है आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है और दिन रात एक करना पड़ता है | जॉब में यह रहता है कल कर दूंगा, मई नही करूँगा तो कोई और करेगा पर बिज़नस में ऐसा नही होता है यहाँ सब कुछ आपको की करना पड़ता है, कोई और नही आएगा यहाँ |
  4. Low Risk : जॉब में आपको बहुत कम रिस्क होता है | अगर कोई बात हुई या नुकसान हुआ तो ज्यादा से ज्यादा आपकी नौकरी जाएगी पर बिज़नस में ऐसा नही होता | बिज़नस में आपका घर, पूरा पैसा सब कुछ जा सकता है , आप एक मखमल के चादर से फटी हुई चादर तक पहुँच जायेंगे | आपको मै डरा नही रहा हूँ पर यह सच है की बिज़नस में हुआ नुकसान आपसे बहुत कुछ छीन सकता है पर जॉब में सिर्फ आपकी जॉब जाएगी |
  5. Better Work Life and Family Balance : जॉब में आपकी working life और Family life बैलेंस रहती है | आप अपना समय अपने परिवार के साथ बाँट सकते है | आपके परिवार को पता होता है की आप घर आओगे |लेकिन बिज़नस में ऐसा नही होता | आपके पास पैसे तो बहुत होंगे पर समय नही होगा किसी के लिए |
  6. Work For Other : आप नौकरी में कितनी भी मेहनत कर ले पर आपको उसका फायदा नही मिलेगा वो फायदा आपकी कंपनी को होगा | आप दूसरो के लिए काम करेंगे | कंपनी आपका समय , आपकी एनर्जी , आपके आईडिया का इस्तेमाल खुद को बढ़ाने के लिए करेगी ना की आपको बढ़ाने के लिए | जबकि बिज़नस में आप खुद के लिए काम करते है और आपकी मेहनत का पूरा फायदा भी आपको ही मिलेगा |
  7. More Qualification : नौकरी पाने के लिए आपके पास झोली भर सर्टिफिकेट और टैलेंट रहना चाहिए, पर बिज़्नेस के लिए बस एक अच्छा आइडिया और उसमे मेहनत चाहिए |
  8. Secure Generation : नौकरी में आप सिर्फ़ अपना कॅरियर बना सकते है | अपने फॅमिली या बच्चो का फ्यूचर नही, लेकिन अगर आपका बिज़नस सक्सेस हो गया तो आने वाली Generation (पीढ़ी) का भी कॅरियर बन जायेगा |
  9. Desire : नौकरी से आप हर वो चीज़ नही ले सकते जो आपका दिल चाहता है और ना ही अपने फैमिली का शौख पूरा कर सकते है , पर बिज़्नेस मे हर ख्वाहिश पूरी की जा सकती है |
  10. Boss or Servant : जी हाँ ! दोस्तों यह बात भी गौर करने वाली है की आप नौकरी में चाहे जितने भी बड़े पद में क्यों न हो आप मालिक नही हो सकते आप नौकर ही होंगे क्योंकि आप नौकरी कर रहे है | आप का बॉस आपको जितनी पेमेंट देगा आपको उतनी ही मिलेगी , जो वो आर्डर करेगा आपको वो मानना ही पड़ेगा अगर आपको नौकरी करनी है तो , पर बिज़नस में ऐसा नही होता आप वहां खुद के मालिक होते है | आपको जो मन करेगा आप वो कर सकते है , आपके ऊपर कोई हुकम चलाने वाला नही होगा बल्कि आप दूसरो पर हुकम चलाने वाले होंगे |

दोस्तों अभी तक हमने जॉब के बारे में जाना की जॉब में क्या अच्छा होता है और क्या बुरा | अब तक तो आपको जॉब के बारे बहुत कुछ पता चल ही गया होगा | तो फिर चलिए अब थोडा बिज़नस के बारे में भी जान लेते है |

 

job vs business

  1. Unlimited Money : बिज़नस में दोस्तों हमारी income की कोई सीमा नही है | आप जितनी मेहनत करेंगे, जितना काम करेंगे उतना आप कम सकते है जबकि नौकरी में ऐसा नही है | आपके बॉस ने जो आपको दे दिया समझो वही अब आपकी income है , आप कितनी भी मेहनत कर लीजिये पर सारा पैसा कंपनी को ही जायेगा | यहाँ मेहनत आपकी और फल किसी और का , बोयेंगे आप कटेगा कोई और | बिज़नस में आप न सिर्फ अपनी जरुरत को पूरा कर पाएंगे बल्कि आप अपनी सारी ख्वाइशो को भी पूरा कर पाएंगे |
  2. Your Hardwork your Success : जैसा की हमने पहले ही जाना है की नौकरी आप कितनी भी मेहनत कर ले या कितना भी दिमाग लगा ले उसका profit कंपनी को ही जायेगा , परन्तु बिज़नस में ठीक इसका उल्टा है | आपकी मेहनत आपका फायदा | यहाँ आप बोयेंगे भी खुद और काटेंगे भी खुद , मेहनत भी आपकी फल भी आपका |
  3. Be your own boss : नौकरी के अत्याचारों से तो आप सभी वाकिफ़ ही होंगे | बॉस के मन में जो कुछ भी आया उसने बोल दिया और आपको वो काम करना ही पड़ेगा, चाहे आपका मन हो या न हो | पर बिज़नस में ऐसा नही है अगर सब कुछ सही चल रहा है तो आप जब चाहे छुट्टी पे जा सकते है या जब मन हुआ तो फैमिली के साथ घुमने | बिज़नस में आपके ऊपर कोई नही होता है बल्कि आप सबके ऊपर होते है | यहाँ आप पर कोई हुकुम नही चलाने वाला बल्कि आप सबके ऊपर हुकुम चलाएंगे |
  4. No waiting for holidays : नौकरी में आप हमेशा छुट्टी के इन्तेजार में रहते है | आपको जब चाहे तब छुट्टी नही मिल सकती | बॉस का मन हुआ तो छुट्टी मिली नही तो नही मिली | आप अपने मन से न तो पिकनिक प्लान कर सकते है न ही कही घुमने जा सकते है | जबकि बिज़नस में आप फ्री है | आपका जब मन हुआ आप कही भी जा सकते है | न किसी से पूछने की जरुरत न इजाजत लेने की |
  5. Better social status : हमारे समाज में बिज़नस करने वाले इंसान का एक अलग ही रुतवा या जलवा होता है | आप खुद सोचिये की कौन सा वाक्य अच्छा है – 1. हेल्लो ! मेरा नाम राकेश है और मै एक बड़ी कंपनी में नौकरी करता हूँ | 2. हेल्लो ! मेरा नाम राकेश है और मै एक बहुत बडी कंपनी का मालिक हूँ |

जाहिर सी बात है ज्यादातर लोगो ने दुसरे नंबर के वाक्य को ज्यादा पसंद किया होगा |

  1. High Risk : जैसा की मैंने ऊपर ही बताया है की जॉब में आपको बहुत कम रिस्क होता है | अगर कोई बात हुई या नुकसान हुआ तो ज्यादा से ज्यादा आपकी नौकरी जाएगी पर बिज़नस में ऐसा नही होता | बिज़नस में आपका घर, पूरा पैसा सब कुछ जा सकता है , आप एक मखमल के चादर से फटी हुई चादर तक पहुँच जायेंगे | पर अगर आप सफल हुए तो रोडपति से करोड़पति बनने में देर नही लगेगी | जितना ज्यादा रिस्क उतना ज्यादा फायदा |
  2. Better Future : एक बार आपका बिज़नस सफल हो गया तो आप अपनी आने वाली पीढ़ी को विरासत में एक बनी बनाई पैसे कमाने की मशीन दे सकते है | आपकी अगली पीढ़ी को शून्य से शुरू नहीं करना पड़ेगा | पर नौकरी में ऐसा नही है आप शून्य से शुरू करेंगे और आपकी आने वाली पीढी भी शून्य से शुरू करेगी |
  3. Increase Time : आप बिज़नस में अपने समय को बढ़ा सकते है | नौकरी में आप जितना समय देंगे उतना पैसा कमाएंगे | आप अपने समय को बढ़ा नही सकते इसलिए आप अपनी income भी नहीं बढ़ा पाएंगे | परन्तु बिज़नस में आप अपने समय को कई गुना बढ़ा सकते है, जितना आप अपने समय को बढ़ाएंगे उतना आपका पैसा बढेगा | बिज़नस में आप दुसरो का समय, उर्जा, काबिलियत और उनके आईडिया को खरीद सकते है और खुद के सपने को पूरा कर सकते है | 

एक कहावत है की – जो खुद के सपने पूरे नहीं कर सकते है वो दूसरो के सपने पूरे करते है |

दोस्तों ! हमने ऊपर कई बातो पर गौर किया और यह पाया की दोनों की अपनी अपनी  खूबी और कमी है | आप आराम से एक बार सोचिये की आप को असल में चाहिए क्या ? इसके बाद यह देखिये की जिस चीज को आपने चुना है उसके लिए आपमें काबिलियत है या नही | अगर नही तो क्या वो काबिलियत आप खुद में ला सकते है | अगर आप खुद को काबिल बना पाए तो आप दोनों में से जो भी चुनेंगे आप उसमे सफल जरुर होंगे |

investment bankers

 

Decide what you want, decide what you are willing to exchange for it… 
Establish your priorities and go to work.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *